Posted on Aug. 24, 2020, 7:32 a.m.

लौकी की फसल में रस चूसक का प्रकोप!

इस समय लौकी की फसल में रस चूसक कीटों का प्रभाव दिखाई दे रहा है। इसके कारण लौकी के पौधों की पत्तियां मुड़ने तथा मुरझाने लगती है तथा साथ ही पौधों में पीलापन भी आ जाता है। इसके प्रभाव से पौधों का बढ़ना भी रुक जाता है। फल एवं फूल भी कम लगने लगते है। इसके नियंत्रण के हेतु खेत में पीले चिपचिपे जाल 5 प्रति एक एकड़ लगाएं। यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसे अपने अन्य मित्रों के साथ साझा करना ना भूलें।
**************************************************
At this time, the effect of sucking pests is visible in the gourd crop. Due to this, the leaves of the gourd plants begin to turn and wither and at the same time yellowing of the plants also occurs. Due to its effect, plant growth also stops. Fruits and flowers also begin to appear less. To control this, apply yellow sticky net in the field 5 per acre. If you find this information useful, then do not forget to share it with your other friends.


This website belongs to farming and farming machinary. Created and Managed by khetiwadi development team. Content owned and updated by khetiwadi.
Copyright © 2020 KHETIWADI. All Rights Reserved.